11.8 C
London
Saturday, April 13, 2024

निजीकरण करने पर एलआईसी कार्यालय पर विरोध प्रदर्शन करते एलआईसी कर्मी

- Advertisement -spot_img
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

भोंपूराम खबरी, रूद्रपुर। बीमा कर्मचारी संघ के आह्वान पर एलआईसी की स्थानीय शाखा में कार्यरत समस्त कर्मचारियों ने कार्य बहिष्कार किया। एलआईसी के कर्मियों ने आईपीओ लाने के प्रस्ताव और चार वर्ष से लंबित पे रिवीजन को लेकर शाखा कार्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया।

एलआईसी कार्यालय पर कर्मियों की हड़ताल के चलते सारे कामकाज ठप्प रहे। कर्मियों ने कार्यालय के मुख्य गेट पर एकत्रित होकर केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान वक्ताओ ने कहा कि सरकारी उपक्रमो को निजी हाथो में सौंपने से देश की अर्थव्यवस्था पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है। जिसका खामियाजा आम आदमी को भुगतना पड़ रहा है। केन्द्र सरकार एफडीआई बढ़ाने में लगी हुई है। जबकि बेरोजगारी और महंगाई चरम पर है। जिसके लिए सरकार कोई ठोस कार्य नहीं कर रही है। वही 35-40 वर्षो तक सेवा करने के बाद नये कर्मचारियों को पुरानी पेंशन का लाभ नहीं दिया जा रहा है। जिससे कर्मचारियों का अहित हो रहा है। वही कर्मचारियों ने भविष्य निधि की राशि को शेयर मार्केट में लगाने पर भी कड़ी नाराजगी जाहिर की। कहा कि कर्मचारी अपना पेट काटकर भविष्य निधि की राशि एकत्रित करते है, जो कर्मचारियो के बुढ़ापे का सहारा बनती है। लेकिन सरकार उस पर भी कुदृष्टि बनाये हुए है। जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। वही सरकार नये श्रम कानूनो को लागू करके तानाशही का परिचय दे रही है। जिससे असंगठित क्षेत्र के मजदूरो का शोषण निरंतर बढ़ता जा रहा है। कहा कि भविष्य में और भी कड़े कदम उठाकर सरकार की नीतियां बदलने के लिए बाध्य करेगे।इस दौरान अध्यक्ष राजवीर सिंह, संरक्षक राजीव सिंघल, राजेन्द्र सिंह, जेआर टम्टा, जगप्रीत सिंह, राहुल मिश्रा, उपदेश सक्सेना, विपिन त्रिपाठी, हीमा नेगी, दीपा चंद्रा आदि मौजूद थे।

Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »