11.3 C
London
Friday, April 19, 2024

जय भोले के घोष से गुंजायमान हो उठा शहर

- Advertisement -spot_img
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

भोंपूराम खबरी, रुद्रपुर। महाशिवरात्रि का पर्व के चलते नगर में हरिद्वार से गंगाजल लेकर लौट रहे कांवड़ियों का तांता लग गया। पूरा शहर जय भोले के उद्घोषों से गुंजायमान हो उठा। कांवड़ियों की सेवा को शिव भक्तों द्वारा जगह-जगह पंडाल लगाए गए थे। जहां कांवड़ियों का जोरदार स्वागत किया गया। इस दौरान अनेक स्थानों पर विशाल भंडारे का भी आयोजन किया गया।

हर वर्ष महाशिवरात्रि पर्व से पूर्व हजारों की संख्या में कावड़िये पवित्र गंगाजल लेने हरिद्वार जाते हैं। पिछले कुछ समय से महिला कांवड़िया भी इस पर्व में बढ़-चढ़कर भाग ले रही हैं। कावड़ियों का अपने गंतव्य वापस पहुंचना प्रारंभ हो गया। आज महाशिवरात्रि का पर्व है, ऐसे में बुधवार सुबह से ही काशीपुर रोड पर कांवड़ियों का जमावड़ा लग गया और हर तरफ जय भोले के उद्घोष होने लगे। जगह-जगह पंडाल लगाकर कांवड़ियों का स्वागत किया गया और डीजे की धुन पर भोले बाबा के भजनों पर कांवड़िए जमकर थिरके। अनेक पंडालों में विशाल भंडारे का भी आयोजन किया गया था। कांवड़ियों के साथ ही हजारों श्रद्धालुओं ने भी प्रसाद ग्रहण किया। कांवड़ियों के आगमन को देखते हुए यातायात पुलिस सतर्क नजर आई और वाहनों की रफ्तार भी बेहद धीमी रही। गुरुवार अल सुबह को कांवड़िए अपने गंतव्य तक पहुंच जाएंगे और महाशिवरात्रि पर्व पर मंदिरों में जाकर शिवलिंग पर पवित्र गंगाजल का जलाभिषेक करने के साथ ही अपनी यात्रा पूर्ण करेंगे।

रुद्रपुर। बीते दस वर्षों से कांवड़ियों की सेवा में लगे अमरनाथ सेवा मंडल के सदस्यों की ओर से स्थानीय रामलीला मैदान पर भव्य पंडाल लगाया गया। हरिद्वार से गंगाजल लेकर लौटे कांवड़ियों के लिए यहाँ आराम का इंतज़ाम करने के साथ ही विशाल लंगर भी लगाया गया। यहाँ कांवड़ियों के परिजन भी हजारों की संख्या में उपस्थित रहे। मंडल के वरिष्ठ सदस्य सुनील ठुकराल व अजय चड्ढा ने बताया कि महाशिवरात्रि की पूर्व संध्या पर मंडल की ओर से विशाल शिव जागरण का भी आयोजन रामलीला मैदान पर ही किया जा रहा है। इसमें देश के कई प्रख्यात भजन गायक अपने भजनों से श्रद्धालुओं को शिव का गुणगान कर विभोर करेंगे।                         

Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »