9.7 C
London
Wednesday, February 21, 2024

सीएम धामी ने एरोमा पार्क काशीपुर का भूमि पूजन कर प्लाटों का किया आवंटन

- Advertisement -spot_img
spot_img
spot_img

भोंपूराम खबरी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज काशीपुर में एरामा पार्क का भमिपूजन कर प्लाटों का अवंटन किया। उन्होंने कहा कि आज कैप, सेलाकुई, सुगन्ध व्यापार संघ, दिल्ली तथा एशेंसियल ऑयल एसोसिएशन ऑफ इण्डिया नोएडा एवं सिडकुल द्वारा देश के प्रथम एरोमा पार्क की स्थापना उत्तराखण्ड में की जा रही है यह हमारे लिये गौरव की बात है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड देश का पहला राज्य है, जिसमें एरोमैटिक सेक्टर के विकास हेतु प्रदेश स्तर पर हमारी सरकार द्वारा एक विशिष्ट एवं समर्पित संस्थान सगन्ध पौधा केन्द्र (कैप) की स्थापना की गयी है, जिसे सगन्ध फार्मिंग द्वारा राज्य की आर्थिकी बढ़ाने का दायित्व सौंपा गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विगत दो दशकों में राज्य सरकार द्वारा कैंप के माध्यम से प्रदेश में एरोमैटिक सेक्टर का काफी विकास किया गया है, जिसके माध्यम से प्रदेश में चौबीस हजार से भी अधिक किसान एरोमैटिक फार्मिंग से जुड़े है। प्रदेश में सरकार द्वारा एरोमैटिक सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए सगन्ध फॉर्मिग के कलस्टर विकसित किये गये हैं। वर्तमान में प्रदेश में 109 एरोमा कलस्टरों में सगन्ध फॉर्मिंग की जा रही है, जिसके अन्तर्गत 192 आसवन सयंत्र स्थापित किए गए हैं। सगन्ध फॉर्मिंग के बढ़ते क्षेत्रफल से वर्तमान में एरोमा सेक्टर का टर्नओवर 86 करोड़ से अधिक हो गया है, जबकि वर्ष 2002 में एरोमा सेक्टर का टर्नओवर लगभग 2 करोड़ था।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड में एरोमैटिक सेक्टर के विकास तथा यहां उत्पादित सगन्ध तेलों की अच्छी गुणवत्ता को देखते हुए सगन्ध व्यापार संघ एवं इशेंस्यल ऑयल एसोसिएशन ऑफ इंडिया (ई०ओ०ए०आई०), दिल्ली द्वारा प्रदेश में एरोमा पार्क बनाने का प्रस्ताव उत्तराखण्ड सरकार को दिया गया था। जिसे हमारी सरकार द्वारा सहर्ष स्वीकार करते हुए एरोमा पार्क पॉलिसी 2018 लागू की गयी, जिसके अन्तर्गत एरोमा तथा परफ्यूमरी से सम्बन्धित 46 उद्योग सिडकुल काशीपुर में स्थापित किए जा रहे है, जिसका शिलान्यास प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 30 दिसम्बर 2021 को किया गया था। उत्तराखण्ड सरकार द्वारा राज्य में एरोमा पार्क में स्थापित होने वाले उद्योगों को पर्याप्त मात्रा में कच्चा माल उपलब्ध कराने के दृष्टिगत सगन्ध फसलों की 6 एरोमा वैली विकसित करने का निर्णय लिया गया है। जिसमे डेमस्क रोज वैली जनपद चमोली एवं अल्मोड़ा, तिमूर वैली- पिथौरागढ़ सिनामॉन वैली चम्पावत एवं नैनीताल, लेमनग्रास एवं मिन्ट वैली- हरिद्वार, मिन्ट वैली – ऊधमसिंह नगर तथा लैमनग्रास लैमनग्रास एवं मिन्ट वैली हरिद्वार, मिन्ट वैली ऊधमसिंह नगर तथा लैमनग्रास वैली- पौड़ी 14000 है० क्षेत्रफल में विकसित की जाएगी।

उन्होंने कहा कि इन उद्योगों द्वारा उत्तराखण्ड के सगन्ध काश्तकारों को बाजार उपलब्ध कराने के साथ- साथ हमारी सरकार द्वारा विकसित हो रही एरोमा वैलियों के विकास में भी अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया जायेगा। स्थापित सगन्ध उद्योगों की मांग के अनुसार नई फसलों की खेती द्वारा भी राज्य के किसानों को खेती के नये विकल्प मिलेगें, जिससे निश्चित ही उनकी आजीविका में और अधिक सुधार होगा। वर्तमान में एरोमा पार्क में एरोमा तथा परफ्यूमरी उद्योग लगाये जायेंगे, जिसमें लगभग 300 करोड़ का निवेश होगा तथा हजारों रोजगार के अवसर उपलब्ध होगें। बताया गया है कि अभी तक 24 प्लॉटों का आवंटन किया जा चुका है, जिनको आज पजेशन पत्र दिया जा रहा है। एरोमा पार्क में स्थापित होने वाले सगन्ध उद्योगों को राज्य सरकार द्वारा जो प्रोत्साहन दिये जा रहे है, इससे इस सेक्टर से जुड़े अन्य उद्योगपति भी एरोमा पार्क की ओर आकर्षित होंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के दिशा निर्देशन में आर्थिकी और पर्यावरण के मध्य समन्वय स्थापित करते हुए राज्य की परिस्थितियों के अनुरूप विकास पर विशेष ध्यान दे रही है। इसके लिए जहां एक ओर हम ऐसे उद्योगों और फसलों को बढ़ावा दे रहे हैं जिनको पहाड़ी क्षेत्रों में आसानी से लगाया जा सकता है वहीं दूसरी ओर हम ऐसी तकनीकें विकसित करने पर ध्यान दे रहे हैं जिससे हमारे किसानों की आय दुगनी हो सके। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि यह एरोमा पार्क बंजर पड़ी तीन लाख से अधिक कृषि भूमि में सगन्ध फसलों जैसे दालचीनी, तिमूर व सुरई आदि के बगीचे स्थापित करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगा जिससे जहां एक ओर सगन्ध पौध उत्पादन में वृद्धि होगी वहीं दूसरी ओर किसानों को आर्थिक लाभ भी प्राप्त होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड को हर क्षेत्र में देश का एक श्रेष्ठ राज्य बनाने के हमारे ‘विकल्प रहित संकल्प’ के अनुरूप 2030 तक लगभग 21 हजार हैक्टेयर भूमि को सगन्ध फसलों से आच्छादित करने की योजना को साकार करने में यह उत्कृष्टता केन्द्र महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगा। इसके साथ ही यह केंद्र हमारी 1 डिस्ट्रिक 2 प्रोडक्ट की पॉलिसी को भी विस्तार देने में भी कारगर सिद्ध होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस एरोमा पार्क की स्थापना से सगन्ध फसलों के उत्पादन में तेजी से वृद्धि होगी तथा इन फसलों का राज्य में तीव्र विस्तार होगा। प्रदेश में पर्यटन एवं हार्टिकल्चर के साथ हार्टी टूरिज्म को बढावा देने के प्रयासों को भी इससे मदद मिलेगी।

इस अवसर पर केन्द्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्यमंत्री अजय भट्ट ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की प्रशंसा करते हुए कहा कि केन्द्र सरकार का कोई भी ऐंसा मंत्रालय नहीं है जहॉ पर सीएम धामी का सम्पर्क न होता हो। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हल्द्वानी में एरोमा पार्क के लिए कहा था, जिसने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के कुशल नेतृत्व में मूर्तरूप ले लिया है। उन्होंने कहा कि पूरे देश में पहला स्थान हैं जहॉ पर एरोमा पार्क खोला गया है। उन्होंने कहा कि किसानों की फसल को जानवर नुकसान पहुॅचाते हैं और किसानों को कढ़ी मेहनत के बावजूद कम लाभ मिलता है। उन्होंने कहा कि सगन्ध खेती से किसानों को उनकी मेहनत का अधिक लाभ मिल सकेगा। उत्तराखण्ड पूरे देश में प्रथम राज्य होगा, जहां पर सगन्ध उद्योंगो हेतु एरोमा पार्क की स्थापना की गई है। इस पार्क में सुगन्धित तेलों के आसवन और निष्कर्षण, धूप और अगरबत्ती निर्माण, इत्र और डियोड्रेन्ट तैयार करने, सुगन्धित चाय, सुगन्धित मोमबत्ती, हस्त निर्मित साबुन आदि बनाये जायेगे। एरोमा पार्की की स्थापना से उत्तराखण्ड देश ही नहीं अपितु पूरे विश्व में अपनी एक विशेष पहचान पायेगा, ऐसा मेरा मानना है। सगन्ध उद्योगों हेतु एक समर्पित पार्क की स्थापना से पर्यटकों हेतु भी एक नया डेस्टीनेशन (Destination) राज्य में उपलब्ध हो सकेगा, जिससे पर्यटन उद्योग को भी बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि एरोमा पार्क की स्थापना से पलायन को रोका जा सकेगा तथा सगन्ध फसलों की खेती द्वारा स्थानीय निवासी अपने घर पर ही स्वरोजगार द्वारा अपनी आर्थिकी को बढ़ा सकेंगें। एरोमा पार्क में स्थापित होने वाले उद्योगों हेतु राज्य सरकार द्वारा जो प्रोत्साहन दिये जा रहे है, उससे अधिक से अधिक उद्योग यहां पर स्थापित होगें, जिससे राज्य का चहुँमुखी विकास होगा।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश नई ऊंचाईयों को छू रहा है। उन्होंने कहा कि कृषि, उद्योग एवं आकाश, भूमि, समुद्र सभी क्षेत्रों में नए आयाम स्थापित हो रहे है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश ने इतिहास रच दिया है और हमें आगे बढ़ने से कोई शक्ति नहीं रोक सकती है। उन्होंने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था लगातार बढ़ रही है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में उत्तराखण्ड तेज गति से आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि सीएम धामी के प्रपोजलों को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मोहर लगा रहे है और राज्य में एक लाख करोड़ से ज्यादा के प्रोजेक्ट चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में कैलाश मानसरोवर यात्रा गाड़ी से की जा सकेगी। उन्होंने उद्यमियों को आश्वासन दिया कि किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि उद्यमियों के सभी काम सुगमता, सरलता से हों,इसके लिए सिंगल विण्डो सिस्टम लागू है।

विधायक त्रिलोक सिंह चीमा ने काशीपुर की जनता की ओर से सभी का स्वागत एवं अभिनन्दन किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार निचले स्तर से लेकर उच्च स्तर तक हर स्तर पर सहयोग करेंगी। उन्होंने कहा कि राज्य में उद्योगों के लिए अनुकूल वातावरण है। उद्योगों हेतु आवश्यक कानून एवं शान्ति व्यवस्था, इंफ्रास्ट्रक्चर, पॉवर तीनों ही चीजें मौजूद हैं। उन्होंने कहा कि एरोमा पार्क की स्थापना से यूथ को रोजगार मिलेगा, और सगन्ध खेती से किसानों की आय में वृद्धि होगी।

कार्यक्रम में सचिव कृषि दीपेन्द्र चौधरी, सगंध व्यापार संग के अध्यक्ष रोहित सेठ, एसेंशियल ऑयल एसोसिएशन ऑफ इण्डिया के अध्यक्ष संजय वार्ष्णेय ने भी अपने-अपने विचार रखे।

इस दौरान मेयर ऊषा चौधरी, एमडी सिडकुल रोहित कुमार मीणा, प्रभारी जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी विशाल मिश्रा, एसएसपी मन्जूनाथ टीसी, अपर जिलाधिकारी जय भारत सिंह, उप जिलाधिकारी अभय प्रताप सिंह, सीमा विश्वकर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष गुंजन सुखीजा, खिलेन्द्र चौधरी, पूर्व विधायक शैलेन्द्र मोहन सिंघल, दीपक बाली, राम मेहरोत्रा, गुरविन्दर सिंह चण्डोक आदि उपस्थित थे।

Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »