12.8 C
London
Thursday, May 23, 2024

मणिपुर मामले पर महिला आयोग ने लिया स्वत: संज्ञान

- Advertisement -spot_img
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

भोंपूराम खबरी। मणिपुर में महिला के साथ हुए दुर्व्यवहार मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग ने स्वत: संज्ञान लिया है। इस मामले में महिला आयोग ने डीजीपी उचित कार्रवाई करने को कहा है। गौरतलब है कि मणिपुर में हिंसा के बीच अब एक वीडियो वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में दो महिलाओं को नंगा कर घुमाते दिखाया गया है। साथ ही वहां खड़ी भीड़ महिला को मार भी रही है और भीड़ के कुछ लोग महिला के प्राइवेट पार्ट्स को भी छूते दिख रहे हैं।

पीएम मोदी ने क्या कहा

मामले पर संसद भवन के मॉनसून सत्र के शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री ने आक्रोश व्यक्त किया था। पीएम नरेंद्र मोदी ने इस मामले पर कहा कि मणिपुर की जो घटना सामने आई है वो किसी भी सभ्य समाज के लिए ये शर्मसार करने वाली घटना है। गुनाह करने वाले कितने और कौन हैं, वो अपनी जगह पर हैं पर बेइज्जती पूरे देश की हो रही है। मैं सभी मुख्यमंत्रियों से आग्रह करता हूं कि वो अपने राज्यों में कानून व्यवस्थाओं को और मजबूत करें। खासतौर पर हमारी माताओं-बहनों की रक्षा के लिए कठोर से कठोर कदम उठाए।

अखिलेश यादव ने कही ये बात

सपा सुप्रीमों अखिलेश यादव ने कहा कि मणिपुर में सभ्यता का चीरहरण हुआ है और संस्कृति का पाताल-पतन। मणिपुर के हालात के लिए आरएसएस की नफरत की नीति और भाजपा की वोट की राजनीति जिम्मेदार है। बहन बेटियों के परिवारवाले अब तो भाजपा की ओर देखने तक से पहले एक बार जरूर सोचेंगे।

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने इस ममले पर कहा कि मणिपुर में मानवता मर गई है। मोदी सरकार और भाजपा ने राज्य के नाजुक सामाजिक ताने-बाने को नष्ट करके लोकतंत्र और कानून के शासन को भीड़तंत्र में बदल दिया है। नरेंद्र मोदी जी, भारत आपकी चुप्पी को कभी माफ नहीं करेगा। यदि आपकी सरकार में जरा भी विवेक या शर्म बची है, तो आपको संसद में मणिपुर के बारे में बोलना चाहिए और केंद्र और राज्य दोनों में अपनी दोहरी अक्षमता के लिए दूसरों को दोष दिए बिना, देश को बताना चाहिए कि क्या हुआ। उन्होंने आगे लिखा कि आपने अपनी संवैधानिक जिम्मेदारी छोड़ दी है। संकट की इस घड़ी में हम मणिपुर के लोगों के साथ खड़े हैं।

Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »