10.2 C
London
Tuesday, February 20, 2024

गुजरात में तबाही के बाद अब राजस्थान की ओर बढ़ा बिपरजॉय

- Advertisement -spot_img
spot_img
spot_img

भोंपूराम खबरी। बिपरजॉय तूफान गुरुवार (15 जून) की रात 11.30 बजे के करीब गुजरात के कच्छ जिले के जखाऊ तट से टकरा गया. तट से टकराने के बाद लगातार तूफान की रफ्तार कम हो रही है. जखाऊ और मांडवी समेत कच्छ और सौराष्ट्र के ज्यादातार हिस्सों में इस वक्त तेज बारिश हो रही है. अब ये तूफान राजस्थान की तरफ बढ़ रहा है- जहां हवा की रफ़्तार 75 से 85 किलोमीटर प्रति घंटे के करीब है।

मौसम विभाग ने कहा है कि तूफान के चलते आज और कल गुजरात और राजस्थान में भारी बारिश होगी. अगले चार दिन तक राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, नई दिल्ली और उत्तर प्रदेश में भी भारी बारिश होगी. कच्छ में भीषण बारिश की संभावना मौसम विभाग ने जताई है. सौराष्ट्र और कच्छ में शुकवार (16 जून) को भारी बारिश जारी रहेगी. तूफान के चलते दिल्ली में अगले 4 दिन तक भारी बारिश हो सकती है. साथ ही अगले चार दिनों तक राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, नई दिल्ली और उत्तर प्रदेश में भी भारी बारिश होगी।

कई पेड़ और बिजली के खंभे उखड़े

कच्छ जिले के जखाऊ और मांडवी कस्बों के पास कई पेड़ और बिजली के खंभे उखड़ गए, जबकि घर के निर्माण में इस्तेमाल होने वाली टिन की चादरें उड़ गईं. द्वारका में पेड़ गिरने से तीन लोगों को चोटें आई हैं, जिनका इलाज किया जा रहा है. गुजरात पुलिस राष्ट्रीय आपदा बल और सेना के दल द्वारका के अलग-अलग हिस्सों में उखड़े पेड़ों और बिजली के खंभों को हटाने का काम जारी है.

सेना ने भुज, जामनगर, गांधीधाम के साथ-साथ नलिया, द्वारका और मांडवी में अग्रिम स्थानों पर 27 राहत टुकड़ियां तैनात की हैं. वायुसेना ने वड़ोदरा, अहमदाबाद और दिल्ली में एक-एक हेलीकॉप्टर को तैयार रखा है. नौसेना ने बचाव और राहत के लिए ओखा, पोरबंदर और बकासुर में 10-15 टीम को तैनात किया है, जिनमें से प्रत्येक में पांच गोताखोर और अच्छे तैराक शामिल हैं. आईएमडी की अहमदाबाद इकाई की निदेशक मनोरमा मोहंती ने बताया कि शुक्रवार को चक्रवात की तीव्रता कम होने के बावजूद तेज हवाएं चलेंगी।

गुजरात के कई जिलों का हाल बेहाल है. मांडवी में समुद्र का रौद्र रूप दिख रहा है. अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान बिपरजॉय का वलसाड में भी असर दिख रहा है. गुजरात के गिर सोमनाथ में समुद्र की लहरों से टकराकर एक घर धराशायी हो गया तो वहीं कई घरों को भारी नुकसान पहुंचा है. बिपरजॉय का असर ट्रेन सेवाओं पर भी देखने को मिला है. प्रभावित इलाकों में 18 जून तक 99 ट्रेन कैंसिल कर दी गई हैं. गुजरात के राहत आयुक्त आलोक पांडेय ने बताया कि अब तक 22 लोग घायल हुए हैं और तूफान के बाद 23 पशुओं की मौत हुई है. इसके साथ ही आगे संख्या ज्यादा होने की आशंका है।

आईएमडी निदेशक डॉ मृत्युंजय महापात्र ने बताया कि चक्रवात बिपरजॉय ने उत्तर पूर्व की ओर मूव कर लिया है और पाकिस्तान तट से सटे सौराष्ट्र-कच्छ को पार किया. चक्रवात अब समुद्र से जमीन की ओर बढ़ गया है और सौराष्ट्र-कच्छ की ओर केंद्रित है. उन्होंने बताया कि 16 जून की शाम को चक्रवाती तूफान डिप्रेशन में बदल जाएगा।

 

Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »