13.6 C
London
Wednesday, June 19, 2024

साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन कुमाऊँ परिक्षेत्र ने कराई साईबर ठगी की 3,28,944 रुपए की धनराशि वापस

- Advertisement -spot_img
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

भोंपूराम खबरी,रुद्रपुर। बढते हुए साईबर अपराधों के मद्देनजर पीडितों व आम जनमानस की साईबर अपराध सम्बन्धित शिकायतों पर कार्यवाही करते हुए साईबर क्राईम थाने की टीम द्वारा मिशन ई-सुरक्षा चक्र के तहत विगत दो सप्ताह में लगभग 3,28,944 रुपये की साईबर ठगी की धनराशि पीड़ितों के बैंक खातो में वापस कराई। साईबर अपराधियों द्वारा आम जनता को नये-नये तरीके से जालसाजी कर यह धनराशि ठगी गयी थी। जिनमें सुल्तानपुर पट्टी निवासी द्वारा ठगी गई 1,20,000 रूपए की धनराशि वापस कराई गई। वही महुवाखेड़ागंज निवासी को 15,999 रूपये, रूद्रपुर निवासी एक व्यक्ति के खाते से निकले 59999 में से 13850 रूपए, खटीमा निवासी 25000 रूपये, रूद्रपुर निवासी 14000 व 13117 रूपये, खटीमा निवासी एक व्यक्ति के खाते से निकले 1,00,00 में से 51,000 रूपये, तिलडुगंरी, पिथौरागढ़ निवासी व्यक्ति के खाते से निकले 49990 रूपये में से 10,000 रूपये वापस कराये गये। इसके अलावा रुद्रपुर निवासी व्यक्ति के खाते से निकले 26629 रूपये में से 22129 रूपये व दूसरे व्यक्ति के खाते से निकले 43500 रूपये में से 28000 व 12999 रूपये वापस कराये गये।
सीओ साईबर क्राइम पूर्णिमा गर्ग ने बताया कि किसी अंजान व्यक्ति के बहकावे मे आकर कोई भी एप्प डाउनलोड न करे। साथ ही किसी अजनबी या किसी ऐसे व्यक्ति से प्राप्त संदेश का जवाब न दें। वही कस्टमर केयर से बताकर फोन करने वाले व्यक्ति की बातो में न आये और न ही उसे अपने वॉलेट/बैक सम्बन्धी को जानकारी साझा करें। इसके अलावा ध्यान रखे कि अंजान व्यक्ति द्वारा भेजे गये किसी भी पेमेन्ट गेटवे /वॉलेट/मोबाईल एप्लीकेशन पर धनराशि प्राप्त करने हेतु कभी भी न तो क्यूआर कोड स्कैन करें, और न ही यूपीआई पिन डालें ऐसा करने से हमेशा धनराशि आपके खाते से ही डेबिट होगी ।
पीड़िता को धनराशि वापस कराने में पुलिस टीम में शामिल उप निरीक्षक दिनेश पंत, उपनिरीक्षक विनोद जोशी, मुख्य आरक्षी (प्रो.) विनोद बिष्ट, मुख्य आरक्षी (प्रो.) सत्येन्द्र गंगोला, आरक्षी मुहम्मद उस्मान, आरक्षी रवि बोरा, आरक्षी हेम मठपाल और महिला आरक्षी बलजिन्दर कौर का सहयोग रहा।

Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »