17.4 C
London
Sunday, June 16, 2024

संतान के लिए महिलाओं ने रखा हलषष्ठी व्रत 

- Advertisement -spot_img
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

भोंपूराम खबरी, रुद्रपुर। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार बलराम को श्रीकृष्ण का बड़ा भाई माना जाता है। दो दिन बड़े होने के नाते हिन्दी पंचांग के अनुसार, भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की षष्ठी तिथि को हल छठ, हल षष्ठी या बलराम जयंती मनाई जाती है । इस वर्ष हल षष्ठी या बलराम जयंती शनिवार को पड़ी, जबकि श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व सोमवार को मनाया जायेगा। बलराम जयंती पर महिलाओं द्वारा संतान के अच्छे स्वास्थ्य व भविष्य लिए व्रत रखा गया।

बता दें कि इस दिन महिलाएं निर्जला व्रत रखते हुए हल की पूजा करती है। ज्योतिषाचार्य मंजू जोशी के मुताबिक भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की षष्ठी तिथि का प्रारंभ 27 अगस्त दिन शुक्रवार को शाम 06 बजकर 48 मिनट पर हुआ। षष्ठी तिथि अगले दिन 28 अगस्त दिन शनिवार को रात 08 बजकर 56 मिनट तक रहा। उन्होंने बताया कि उदया तिथि को देखते हुए हल षष्ठी या बलराम जयंती 28 अगस्त को आई जिसके चलते हल षष्ठी का व्रत शनिवार को रखा गया।

 

Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »