12.3 C
London
Tuesday, June 18, 2024

पानी पीते हुए कैमरे में कैद हुआ बाघों का झुंड, उधम सिंह नगर के जंगलों से आई मनमोहक तस्वीर

- Advertisement -spot_img
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

भोंपूराम खबरी। देश और विदेशों से हर साल लाखों पर्यटक बाघों की एक झलक देखने के लिए उत्तराखंड के जंगलों में आते हैं लेकिन कई बार कई घंटे के इंतजार के बाद भी बाघों की झलक नहीं दिख पाती हैं. बाघ प्रेमी पर्यटकों के लिए उधम सिंह नगर जिले से पॉजिटिव खबर सामने आई है, वन विभाग द्वारा भीषण गर्मी को देखते हुए तालाबों के निर्माण कराएं गए थें, इस तालाब में एक साथ बाघों का एक समूह पानी पीने आया. तभी ये पूरी घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई. वन विभाग के अधिकारियों और पर्यावरण प्रेमियों ने ये तस्वीर देखी तो सब खुश हो गए।

उधम सिंह नगर जिले के तराई केंद्रीय वन प्रभाग में वन्य जीवों को भीषण गर्मी के प्रकोप से बचाने के लिए जगह जगह पर अस्थाई तालाबों के निर्माण वन विभाग द्वारा कराए गए हैं. जहां वन्य जीव पानी पीने आते रहते हैं, लेकिन जब पांच बाघों का एक समूह वन विभाग द्वारा निर्मित तालाब में पानी पीने आया और फिर उसकी तस्वीर सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई, पांच बाघों के एक साथ पानी पीने की तस्वीर देखकर वन विभाग के विभाग के अधिकारी और पर्यटक अपनी खुशी नहीं रोक पाए. वन्यजीवों को भीषण गर्मी के प्रकोप से बचने के लिए वन विभाग द्वारा किए गए प्रयासों की सभी ने सराहना की।

पानी पीते हुए कैमरे मे कैद हुआ बाघों का समूह

तराई केंद्रीय वन विभाग के डीएफओ उमेश सिंह तिवारी ने बताया कि हर साल भीषण गर्मी के प्रकोप से वन्यजीवों को बचाने के लिए वन विभाग द्वारा जगह-जगह पर अस्थाई कुंड और तालाब के निर्माण किए जाते हैं. जिसमें टैंकर की मदद से हर रोज पानी भरा जाता है, इन तालाबों और कुंडों पर हाथी, हिरण, बाघ, तेंदूए सहित तमाम पशु पक्षी पानी की तलाश में यहां तक पहुंचकर पानी पीने आते रहते हैं।

उन्होंने कहा कि भीषण गर्मी से परेशान पांच बाघों का एक समूह एक साथ पानी पीने तालाब पर आया हुआ था, जिसकी तस्वीर सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई. हम सभी के लिए यह खुशी की खबर है कि जहां देश में एक तरफ टाइगर की संख्या काफी कम हो चुकी है. वहीं दूसरी तरफ हमारे यहां अच्छे वातावरण में बाघों का कुनबा लगातार बढ़ रहा है.

Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »