20.6 C
London
Tuesday, July 16, 2024

इस कोर्ट परिसर में कुख्यात शूटर संजीव जीवा की हत्या

- Advertisement -spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

भोंपूराम खबरी।  लखनऊ के कैसरबाग कोर्ट के भीतर गैंगस्टर संजीव महेश्वरी जीवा को गोली मारकर हत्या कर दी गई. हमलावर वकील की ड्रेस में था. संजीव महेश्वरी मुख्तार अंसारी का करीबी था. वह बीजेपी नेता ब्रह्मदत्त द्विवेदी हत्याकांड का आरोपी था. पेशी के लिए संजीव को कोर्ट में लाया गया था. गोली कांड में चार पांच लोगों की घायल होने की भी खबर है. संजीव महेश्वरी जीवा पश्चिम यूपी का कुख्यात गैंगस्टर था. पुलिस ने एक हमलावर को हिरासत में लिया है. घायल अवस्था में हमलावर को पुलिस अस्पताल ले गई. हत्यारे की पहचान विजय यादव पुत्र श्यामा यादव निवासी केराकत जिला जौनपुर के रूप में हुई है. पुलिस छानबीन में जुटी हुई है।

संजीव जीवा की पत्नी पायल महेश्वरी ने कुछ दिन पहले ही जताई थी हत्या की आशंका, मांगी थी सुरक्षा।

पूर्वांचल के भाजपा विधायक ब्रह्मदत्त द्विवेदी की हत्या के मामले में जेल में बंद संजीव जीवा की पत्नी ने अपने पति की हत्या की आशंका जताई संजीव जीवा की पत्नी और रालोद नेता पायल माहेश्वरी ने चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया से अपने पति की सुरक्षा की गुहार की थी पायल का कहना था कि पेशी के दौरान षड्यंत्र के तहत उनके पति की हत्या कराई जा सकती है. उन्होंने पति की सुरक्षा के लिए सीजेआई से उच्चाधिकारियों को निर्देशित करने का अनुरोध किया था। 2017 में पायल महेश्वरी लड़ चुकी है रालोद के टिकट पर विधानसभा का चुनाव।

सूत्र बताते हैं कि हार्डकोर क्रिमिनल संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा को हमेशा बुलेट प्रूफ जैकेट पहनाकर लाया जाता कोर्ट में पेशी पर,वहीं आज बिना बुलेट प्रूफ जैकेट के ही कोर्ट लाया गया था। कुख्यात संजीव के हत्यारे की पहचान विजय यादव पुत्र श्यामा यादव निवासी केराकत जिला जौनपुर के रूप में हुई है,पुलिस छानबीन में जुटी।

घटना के बाद वकीलों में आक्रोश है. वकीलों ने सुरक्षा को लेकर चिंता जताई. चश्मदीद ने बताया कि हमलावर ने छह गोलियां चलाई थीं. कोर्ट परिसर में खून के घब्बे गिरे हुए हैं. दीवारों पर भी खून के धब्बे हैं. घटना के बाद पुलिस ने वहां से बॉडी को हटाया।

एक वकील ने कहा कि मैं यहां हर दिन आता हूं लेकिन आज जो हुआ वो शर्मनाक है. एक बच्ची को गोली लगी है. उसका पिता अपनी बच्ची के लिए तड़प रहा है. कोर्ट में आने से पहले जांच होती है, हम लोगों की भी जांच होती है. कोर्ट परिसर के भीतर अस्त्र आ रहा है.

संजीव महेश्वरी जीवा शामली जिले के रहने वाला था. अपराध की दुनिया में उसने 90 के शुरुआती दशक से रखी थी. उसके खिलाफ 22 से ज्यादा मामले दर्ज थे. उसे बाहुबली मुख्तार अंसारी का करीबी बताया जाता है. शुरूआती दिनों में दवाखाने में कंपाउडर की नौकरी करता था. नौकरी के समय इसने दवाखाना के संचालक को अगवा कर लिया था. कोलकता में एक कारोबारी के बेटे को भी अगवा कर 2 करोड़ की फिरौती मांगी थी. 10 मई 1997 को इसका नाम बीजेपी के बड़े नेता ब्रह्म दत्त द्विवेदी की हत्या में सामने आया. वो जेल में उम्र कैद की सजा काट रहा था. हाल ही में मुजफ्फरनगर में जीवा की करीब 4 करोड़ रुपये की कीमत की प्रॉपर्टी को जिला प्रशासन ने कुर्क किया था।

संजीव महेश्वरी जीवा शामली जिले के रहने वाला था. अपराध की दुनिया में उसने 90 के शुरुआती दशक से रखी थी. उसके खिलाफ 22 से ज्यादा मामले दर्ज थे. उसे बाहुबली मुख्तार अंसारी का करीबी बताया जाता है. शुरूआती दिनों में दवाखाने में कंपाउडर की नौकरी करता था. नौकरी के समय इसने दवाखाना के संचालक को अगवा कर लिया था. कोलकता में एक कारोबारी के बेटे को भी अगवा कर 2 करोड़ की फिरौती मांगी थी. 10 मई 1997 को इसका नाम बीजेपी के बड़े नेता ब्रह्म दत्त द्विवेदी की हत्या में सामने आया. वो जेल में उम्र कैद की सजा काट रहा था. हाल ही में मुजफ्फरनगर में जीवा की करीब 4 करोड़ रुपये की कीमत की प्रॉपर्टी को जिला प्रशासन ने कुर्क किया था.

Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »