12.2 C
London
Sunday, April 14, 2024

सीएम के बाद अब इस कैबिनेट मंत्री के पास आया धमकी भरा फोन

- Advertisement -spot_img
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

भोंपूराम खबरी,देहरादून।  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के बाद कैबिनेट मंत्री चंदन राम दास के पास आया धमकी भरा फ़ोन। खालिस्तानी समर्थक बताकर दी कैबिनेट मंत्री को धमकी। सूत्रों की माने तो दो बार आया कैबिनेट मंत्री पर धमकी भरा फ़ोन, कैबिनेट मंत्री को G_20 सम्मेलन में ना जाने की दी सलाह, जी 20 मे जाने पर नुकसान पहुंचाने की कही बात, कल से रामनगर में शुरू हो रहा है जी_ 20 सम्मेलन, 20 देशों के प्रतिनिधि कर रहे हैं सम्मेलन में प्रतिभाग, मंत्री के धमकी भरे फोन की की गई पुलिस में शिकायत,

पुलिस मामले की जांच में जुटी

उत्तराखंड के रामनगर में 28 से 30 मार्च तक होने वाले जी-20 समिट का खालिस्तान समर्थकों ने विरोध तेज कर दिया है। यहां तक कि उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को धमकी दी गयी है कि उत्तराखंड में उनके संगठन से जुड़े लोगों पर केस दर्ज न किए जाएं। इन कॉलस की जांच के लिए डीजीपी अशोक कुमार ने एसटीएफ को लगाया है।

प्रतिबंधित संगठन सिख फॉर जस्टिस (एसएफजे) के मुखिया गुरपतवंत सिंह पन्नू की रिकॉर्डेड आवाज में धमकी भरी कॉल लोगों को आ रही हैं। पन्नू की इस रिकॉर्डेड कॉल में रामनगर में होने वाली जी-20 बैठक को लेकर धमकी दी जा रही है। रविवार शाम से इस तरह की धमकी भरी कॉल आने का सिलसिला चल रहा है। एसएफजे के मुखिया पन्नू की रिकॉर्डेड कॉल में कहा जा रहा है कि रामनगर भारत का नहीं बल्कि खालिस्तान का हिस्सा है। साथ ही समिट के दौरान रामनगर में खालिस्तान के समर्थन में झंडे लगाने की बात भी कही जा रही है। वहीं सीएम पुष्कर सिंह धामी को धमकी दी गयी है कि संगठन के समर्थकों पर मुकदमे दर्ज न किए जाएं। यह भी धमकी दी है कि एसएफजे रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट पर इस समिट के दौरान खालिस्तान के समर्थन में झंडे लगाएगा।

बताया जा रहा है कि इस तरह की सबसे ज्यादा कॉल मीडिया और सरकारी कर्मचारियों को आ रहे हैं। धमकी भरी रिकॉर्डेड कॉल का मामला संज्ञान में आते ही डीजीपी अशोक कुमार ने इसकी जांच के आदेश दिए हैं। विभिन्न नंबरों से आ रही कॉल की जांच करने के लिए एसटीएफ को लगाया गया है। बताया जा रहा है कि पन्नू ने अमृतसर में 15 मार्च को हुए जी-20 समिट को लेकर भी इसी तरह की धमकी दी थी। उत्तराखंड पुलिस अलर्ट मोड पर

हरियाणा-पंजाब पुलिस की टीम को खालिस्तान समर्थक अमृतपाल सिंह के उत्तराखंड का रूख करने इनपुट मिलने के बाद से उत्तराखंड पुलिस अलर्ट मोड पर है। नेपाल सीमा से जुड़ा होने के कारण उधम सिंह नगर जिले की पुलिस हाई अलर्ट मोड पर है। इधर काशीपुर कोतवाली पुलिस ने रविवार देर शाम कुंडेश्वरी गुलजारपुर क्षेत्र में फ्लैग मार्च कर जनता को पंजाब के मोस्ट वांटेड अमृतपाल सिंह के बारे में बताया।

कल से नैनीताल जनपद के रामनगर में जी20 की बैठक होनी है। ऐसे में 20 देशों के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार कल पंतनगर एयरपोर्ट में पहुंचेंगे। विमान पार्किंग कर जैसे ही सलाहकार उत्तराखंड की सरजमी पर उतरेंगे वैसे ही पार्किंग से बाहर निकलते विदेशी मेहमानो के लिए बांस का एक गेट तैयार किया गया है। जिसमे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम पुष्कर सिंह धामी की तस्वीर लगी हुई है। जिसके बाद विदेशी मेहमानो को अराइवल रूम में उत्तराखंड की संस्कृति एर्पण की आकृतियो से रूबरू किया जाएगा। एपर्ण के बीचों बीच मां नंदा सुनंदा के चित्र के साथ साथ छोलिया नृत्य की झलक देखने को मिलेगी। इतना ही नहीं कलाकारों द्वारा चावलो से जी20 का लोगो बनाया गया। अराइवल रूम के बाहर निकलते ही जी20 लोगो के साथ 20 देशों के राष्ट्रीय ध्वज दिखाई देंगे। जिसके बगल डेलीगेट के लिए आलिशान हेंगर रूम तैयार किया गया है।

अल्प विराम के बाद सुरक्षा के बीच लग्जरी छोटी बसों के साथ विदेशी मेहमानो को रुद्रपुर स्थित रेडिशन ब्लू होटल में ले जाया जाएगा। जहा पर लंच के बाद डेलीगेट का काफिला रामनगर को रवाना किया जाएगा लंच में उत्तराखंड के व्यंजन के अलावा भारतीय और विदेशी व्यंजन परोसे जायेगे तैयारियो का जायजा लेने के लिये शासन के नोडल अधिकारी और सूचना सचिव डॉ पंकज कुमार पांडेय पहुचे जहा उन्होंने अधिकारियों को व्यवस्था ठीक करने के निर्देश दिए

आपको बताते चलें उत्तराखंड में मंगलवार से शुरू होने वाली जी 20 देशों के मुख्य वैज्ञानिक सलाहकारों की गोलमेज बैठक के लिए तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। 28 से 30 मार्च तक समिट का आयोजन होना है। इसमें विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी से संबंधित आपसी हित के मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। इस तीन दिवसीय जी-20 बैठक में 13 देशों के वैज्ञानिक भाग लेंगे, उनका स्वागत करने के लिए कुमाऊं क्षेत्र में नैनीताल जिले का रामनगर शहर पूरी तरह से सजधज के तैयार है। आधिकारिक सूत्रों ने यहां बताया कि सम्मेलन में भाग लेने के लिए आ रहे विभिन्न देशों के वैज्ञानिक और भारतीय अधिकारी निकटवर्ती पंतनगर हवाई अड्डे पहुंचेंगे। वहां उत्तराखंड सरकार के वरिष्ठ अधिकारी मेहमानों का स्वागत उत्तराखंडी टोपी पहनाकर करेंगे।

समिट में कई वैश्विक संस्थाएं लेंगी भाग

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सम्मेलन में कई वैश्विक संस्थाएं भाग लेंगी जिनमें संयुक्त राष्ट्र, अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष, विश्व स्वास्थ्य संगठन, विश्व व्यापार संगठन, विश्व श्रम संगठन, वित्तीय स्थिरता बोर्ड, एशियाई विकास बैंक और कनेक्शन फॉर इकोनामिक कोऑपरेशन एंड डेवलपमेंट शामिल हैं। जी 20 सम्मेलन के भारत में आयोजित होने को गर्व का विषय बताते हुए अजय भट्ट कहा कि बैठक में जी 20 देशों के अलावा, भारत के मित्र देश जैसे बांग्लादेश, मिस्र, मॉरीशस, नीदरलैंड, नाइजीरिया, ओमान, सिंगापुर, स्पेन और संयुक्त अरब अमीरात के प्रतिनिधि भी शामिल हो रहे हैं।

रामनगर में आयोजित गोलमेज बैठक का उद्देश्य जी 20 के सदस्य देशों के मुख्य वैज्ञानिक सलाहकारों और उनके समकक्षों के साथ-साथ आमंत्रित देशों को एक साथ लाना है। इससे विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी से संबंधित महत्वपूर्ण वैश्विक नीतिगत मुद्दों पर विचार-विमर्श कर सहयोग की रूपरेखा विकसित की जा सकेगी।

 

Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »