14.4 C
London
Tuesday, June 18, 2024

कल्याणेश्वर महादेव मंदिर में जन्माष्टमी पर्व बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया

- Advertisement -spot_img
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

भोंपूराम खबरी,रुद्रपुर। जिले में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी बड़े ही धूमधाम के साथ मनाई गई। मंदिरों, घरों में भी जनमाष्टमी के अवसर पर भजन-कीर्तन से माहौल भक्तिमय रहा। रात 12 बजे रोहिणी नक्षत्रा में श्रीकृष्ण का जन्म हुआ तो पूरा जनपद नंद घर आनंद भयो, जय कन्हैया लाल की, हाथी घोड़ा पालकी जय कन्हैया लाल की, भजन से गूंज उठा और बच्चों व उत्साहित लोगों ने माखन भरी मटकी पफोड़कर भक्ति के सागर में गोता लगाते रहे। इस दौरान रंग-बिरंगी बिजली के झालरों व साड़ियों से सजी झांकी जहां आकर्षण का केंद्र रहीं, वहीं राधा-कृष्ण के रूप में सजे छोटे बच्चों की झांकी लोगों की मनमोहती रही। इस दौरान महिलाएं और कलाकार भजन कीर्तन में मशगूल रहें। जैसी ही रात 12 बजे तो श्रीकृष्ण का जन्म हुआ। इसी के साथ महिलाएं सोहर, बधाइयों गाने लगी। पिफर महाआरती के बाद गोपाल का पंचामृत से अभिषेक कर पंजीरी आदि का भोग लगाया गया। यहां सिंह कालोनी स्थित श्री कल्याणेश्वर महादेव मंदिर में भी श्री कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया गया गया। इस मौके पर नन्हें-मुन्ने बच्चों की आकर्षक प्रस्तुतियों ने मन मोह लिया। इससे पूर्व कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि क्षेत्राीय विधयक राजकुमार ठुकराल द्वारा किया गया। उन्होंने कहा, हिन्दू धर्म में श्रीकृष्ण को विष्णु के 8वें अवतार माने गए हैं। श्री कृष्ण निष्काम कर्मयोगी, आदर्श दार्शनिक, स्थितप्रज्ञ एवं दैवी संपदाओं से सुसज्जित महान पुरुष थे। उनका जन्म द्वापरयुग में हुआ था। उनको इस युग के सर्वश्रेष्ठ पुरुष, युगपुरुष या युगावतार का स्थान दिया गया है। श्री कृष्ण के समकालीन महर्षि वेदव्यास द्वारा रचित श्रीमद्भागवत और महाभारत में श्रीकृष्ण का चरित्रा विस्तृत रूप से लिखा गया है। भगवद्गीता कृष्ण और अर्जुन का संवाद है जो ग्रंथ आज भी पूरे विश्व में लोकप्रिय है। इस उपदेश के लिए श्रीकृष्ण को जगतगुरु का सम्मान भी दिया जाता है। विधयक राजकुमार ठुकराल ने सभी से अपनी सभ्यता, संस्कृति को अक्षुण्ण बनाए रखने के लिए आगे आने की अपील की। कहा कि सनातन ध्र्म विश्व का प्राचीन ध्र्म है। उन्होंने सभी को श्री कृष्ण जन्माष्टमी की बधई दी। वहीं भाजपा उत्तरी मंडल अध्यक्ष राकेश सिंह ने सभी को श्री कृष्ण जन्माष्टमी की बधई देते हुए कहा, भगवान श्रीकृष्ण की हर लीला एक सीख है। बाल्यकाल में गायें चरा ..चरवाहे के तौर पर प्रकृति प्रेम का संदेश दिया तो युवा काल में बालसखा सुदामा से मित्राता निभाकर नई मिसाल कायम की। एक युग बाद इन सीखों की अहमियत और बढ़ गई है। हमें भगवान का अनुसरण करना चाहिए। कृष्ण ने प्रेम की भाषा का ज्ञान दिया तो धर्म की स्थापना के लिए महाभारत भी हुआ। उन्होंने असुरों का संहार किया तो भक्तों की हर इच्छा पूरी भी की। गीता में दिए गए भगवान कृष्ण के उपदेश का अनुपालन जीवन को सही राह दिखाते हैं। वहीं युवा भाजपा नेता मनीष शुक्ला ने भी श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की बधई देते हुए सभी से भगवान श्रीकृष्ण के उपदेश का अनुपालन करने को कहा। इस मौके पर बच्चों ने विविध् कार्यक्रम प्रस्तुत किए। कार्यक्रम में सानिध्य, ओजस अग्रवाल, अर्पित, अक्षित, इवांका सिंह, कृष्णा, पलक, युवराज, रूही, गार्गी, कार्तिक, रेयांश, वानी, सारविल, अनर्व, प्रेम सागर, अग्रम, अपरम, जान्हवी, आन्या गहलोत,अग्रिमा, खुशी, काजल, रिमझिम, श्रृष्टि, परी, कुमकुम, आरूषि, वैष्णवी, ओम, यशिका, वंशिका, रूद्रप्रताप, सुमिध, राध्किा, खुशी तनेजा, चंचल, आस्या,  सिमरन आदि बच्चों ने अपनी शानदान प्रस्तुति देकर लोगों को मंत्रामुग्ध् कर दिया। भाजपा किसान मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष अनिल चैहान ने सभी को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की बधई दी और कार्यक्रम में प्रतिभाग करने वाले बच्चों के उज्जवल भविष्य की कामना की। सुनील चैहान, अजय चैहान, हुकुम सिंह, अशोक चैहान, राजेंद्र अग्रवाल, राजेंद्र रावत, रक्षपाल रंधवा, विजय चैध्री, सुल्तान चैधरी, अजय वाधवा, आदेश राणा, ध्र्मेंद्र चैहान, तरूण, अक्षय गहलौत, जयंत सिंह, अशोक गोयल समेत तमाम लोग मौजूद रहे। संचालन कृति गोयल, आंचल गोयल, यश गोयल ने किया।

Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »