12.2 C
London
Sunday, April 14, 2024

हाईकोर्ट के आदेश की धज्जियां” पोकलैंड मशीन से किया जा रहा अवैध खनन

- Advertisement -spot_img
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

भोंपूराम खबरी,किच्छा। रिहायशी क्षेत्रों को बरसात में नदियों से बाढ़ के खतरे से बचाने के लिए शासन की ओर से डिसिल्टिंग के दिए गए टेंडर की आड़ में अवैध खनन का खुला खेल खेला जा रहा है। नियम कायदों को ताक पर रखकर नदियों का सीना पोकलैंड और जेसीबी मशीनों से चीरा जा रहा है। किच्छा के काली नगर क्षेत्र में एक पट्टे की आड़ में तीन जगह पर अवैध खनन हो रहा है। जबकि नियम के तहत नदियों से गाद, सिल्ट और मिट्टी निकाली जाती है। जिससे कि नदी की गहराई बनी रहे और बाढ़ का खतरा न हो। वहीं प्रशासन और खनन विभाग आंखें बंद हाथ पर हाथ धरे बैठा हुआ है। जबकि अवैध खनन करने वालों के हौसले इतने बुलंद है कि उन्होंने बकायदा अवैध खनन कर निकाले गए रेता बजरी का अवैध तौर पर भंडारण तक कर लिया है। साफ है कि खनन विभाग और प्रशासन की शह पर ही अवैध खनन करने वाले राजस्व की खुली लूट कर रहे हैं। बरसात से पहले ही नदियों में डिसिल्टिंग का कार्य किया जाता है। इसके तहत मिट्टी और सिल्ट आदि निकालने की अनुमति होती है। जब किच्छा क्षेत्र में इसकी आड़ में अवैध खनन का खेल खेला जा रहा है। इससे सरकार को लाखों के राजस्व का नुकसान भी हो रहा है। किच्छा में अवैध खनन को लेकर आए दिन शिकायतें प्रशासन तक पहुंचती है लेकिन प्रशासनिक कार्रवाई रस्म अदायगी बनी ही रहती है। अवैध खनन करने वालों का सूचना तंत्र प्रशासन से ज्यादा मजबूत होता है। असली किया खनन विभाग की टीम में पहुंचने से पहले ही अवैध खनन कर समेटे गए माल को ठिकाने लगा दिया जाता है।  वीडियो में साफ तौर पर दिखाई दे रहा है कि किस तरीके से अवैध करने वालों के हौसले बुलंद है।

वहीं इस पूरे मामले में खनन अधिकारी दिनेश कुमार सिंह का कहना है कि उन्हें कुछ वीडियो प्राप्त हुई है जिसके आधार पर जांच की जा रही है और जल्दी कार्रवाई की जाएगी, हालांकि अवैध खनन करने वाले इन माफियाओं पर कार्रवाई होती है यह देखने वाली बात होगी

 

Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »