20.6 C
London
Tuesday, July 16, 2024

वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने वाले गिरोह का पुलिस ने किया पर्दाफाश

- Advertisement -spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

भोंपूराम खबरी। व्हाट्सएप कॉल पर अश्लील वीडियों बनाकर अवैध तरीके से धन वसूलने वाले चार साईबर अपराधियों को थाना शेरगढ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जिनसे कई मोबाइल फोन, सिम कार्ड फर्जी पेन कार्ड, आधार कार्ड व एक कार के साथ ब्लैकमेलिंग से संबंधित वीडियों, ओडियों चैट बरामद की गयी है। एसपी देहात त्रिगुण बिसेन ने बताया कि यह गिरोह आबादी क्षेत्र से दूर सुनसान जगहों पर बैठकर सोशल मीडिया (फेसबुक,वाट्सअप मैसैंजर) पर वीडियों कॉल कर चैट द्वारा लोगों नग्न होकर बात करने के लिए उकसा कर अश्लील वीडियों बनाकर उन्हें अपने जाल में फसा लेते थे फिर सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी देकर उन्हें ब्लैकमेल करते थे और बदनामी का डर दिखाकर फर्जी नाम से पेटीएम, गूगल पे, फोन पे में पैसे डलवा लेते थे। ऐसा वे कई बार करते थे। जब व्यक्ति पैसे देने में मना करता था तो उनका एक साथी जिसके नम्बर पर ट्रू कॉलर पर साईबर अफसर/पुलिस अफसर दिखाते थे। जब वह व्यक्ति कॉल उठाता था तो उससे कहा जाता था। तुमने अश्लील वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड की है। तुम्हारे खिलाफ कार्यवाही होगी। इससे वह व्यक्ति डर कर अपराधियों के फर्जी खाते में पैसे डाल देते थे। आधार कार्ड व पहचान पत्र फर्जी होने के कारण यह लोग पुलिस की पकड़ में नही आ पाते थे। यह लोग इतने शातिर थे कि साइबर क्राइम करने के साथ नव युवकों को साइबर क्राइम करने की ट्रेनिंग भी देते थे। भोले भाले युवक पैसा कमाने के लालच में इस गिरोह के चुंगल में फस जाते थे और साईबर क्राइम करने लग जाते थे। पकडे गये लोगों ने पूछताछ में अपने नाम अल्ताफ पुत्र कमरूद्दीन निवासी ग्राम औमरी जिला नूह हरियाणा, अस्फाक उर्फ अज्जी पुत्र ईशाक, ग्राम पचलेडी जिला भरतपुर राजस्थान, अजरू पुत्र ताहिर निवासी ग्राम मामली जिला नूह हरियाणा, सद्दाम पुत्र शहीद निवासी ग्राम बैग पहाडी भरतपुर राजस्थान है। पुलिस के अनुसार इनके ऊपर देश के अनेक राज्यों में सैकड़ों ऑनलाइन फ्रॉड की शिकायतें दर्ज है।

Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »