3.4 C
London
Tuesday, February 27, 2024

यहां रोस्टर के अनुसार ड्यूटी नही मिलने से पीआरडी स्वयं सेवक जवानों ने लगाये गंभीर आरोप

- Advertisement -spot_img
spot_img
spot_img

भोंपूराम खबरी। जनपद उधम सिंह नगर में रोस्टर के अनुसार ड्यूटी नही मिलने पर पीआरडी जवानों ने लगाया गंभीर आरोप, कई जवान सालों से एक ही स्थान पर जबकि कई जवान को नही मिल पायी एक भी दिन ड्यूटी। प्रशिक्षित प्रांतीय रक्षक दल स्वयं सेवक जवानों को नियमित रोजगार नही मिल पा रहा हैं।कई प्रशिक्षित जवानों को प्रशिक्षण के बाद से नाम मात्र की ही ड्यूटी दी गई है तो कई को एक भी दिन रोजगार नहीं दिया गया। तमाम अधिकारियों व नेताओं के चहेतों पीआरडी जवानों को सालों से एक ही स्थान पर शासनादेश नियमों का उल्लंघन कर तैनात किया गया है।जनपद उधम सिंह नगर में पीआरडी जवानों की ड्यूटी रोस्टर से नही लगाए जाने से उनके सामने आर्थिक संकट खड़ा हो जाएगा।

नाम नही लिखने की शर्त पर कुछ प्रांतीय रक्षा दल के प्रशिक्षित स्वयंसेवको द्वारा बताया गया कि जिनके द्वारा पैसा दिया जाता है उनको काफी लंबे समय से एक ही विभाग में तैनात किया हुआ है। जबकि कई ऐसे भी जवान है जिनको कभी ड्यूटी ही नही मिली है।

क्या कहता है शासनादेश

शासनादेश संख्या 129/vi-i/2005-40-(युवा ) प्रांतीय रक्षा दल के प्रशिक्षित स्वयंसेवकों की तैनाती हेतु जनपद में रोस्टर में प्रत्येक स्वयंसेवक को एक बार में अधिकतम 6 माह के लिए ही तैनाती दी जाए। उसके उपरांत रोस्टर के अनुसार पूर्व में तैनात स्वयंसेवक को हटाकर नए स्वयंसेवक की तैनाती की जाए जिसे की स्वयं सभी स्वयंसेवकों को यथा संभव ड्यूटी मिल सके।

जनपद उधम सिंह नगर के 7 विकास खंडों के तैनात पीआरडी स्वयं सेवकों की की वर्तमान में ब्लॉक वार निम्नलिखित है। बताते चलें कि विकास खंड जसपुर में लगभग 129 पीआरडी स्वयंसेवक हैं जिनमें से लगभग 45 पीआरडी स्वयंसेवकों को विभागीय व गैर विभागीय ड्यूटी पर वर्तमान में तैनात किया गया है लगभग 84 पीआरडी स्वयंसेवक घर में बैठे हुए है ।

काशीपुर विकासखंड के उक्त विभाग में लगभग 134 पीआरडी स्वयंसेवक है। जिनमें से लगभग 80 पीआरडी स्वयंसेवकों को विभागीय और गैर विभागीय ड्यूटी पर वर्तमान में तैनात किया गया है। लगभग 54 पीआरडी स्वयंसेवक घर बैठे हुए।

विकासखंड बाजपुर में लगभग 220 पीआरडी स्वयंसेवक हैं। जिनमें से लगभग 70 पीआरडी स्वयंसेवकों को विभागीय गैर विभाग की ड्यूटी पर वर्तमान में तैनात किया गया है।जबकि लगभग 150 पीआरडी स्वयं से घर में बैठे हैं।

विकासखंड गदरपुर में विभाग द्वारा लगभग 153 पीआरडी स्वयंसेक है जिनमें से जिनमें से स्वयं 65 पीआरडी स्वयंसेवक को विभागीय था गैर विभाग की ड्यूटी दी गई वर्तमान में लगभग 88 पीआरडी स्वयं से घर में बैठे हैं ।

रुद्रपुर विकास खंड में लगभग 138 पीआरडी स्वयंसेवक है जिनमें से लगभग 100 पीआरडी स्वयंसेवकों को विभागीय व गैर विभाग की ड्यूटी पर वर्तमान में तैनात किया गया है। लगभग 38 पीआरडी स्वयं से घर में बैठे।

सितारगंज विकास खंड की बात करें तो विभाग में लगभग 223 पीआरडी स्वयंसेवक है। जिनमें से 58 पीआरडी स्वयंसेवकों को विभागीय व गैर विभागीय ड्यूटी पर वर्तमान में तैनात किया गया है। लगभग 165 पीआरडी स्वयं से घर में बैठे हैं।

खटीमा विकासखंड खटीमा में लगभग 214 पीआरडी स्वयंसेवक है। जिनमें से लगभग 64 पीआरडी स्वयंसेवकों को विभागीय गैर विभाग की ड्यूटी दी गई वर्तमान में 150 स्वयं से घर में बैठे हैं।

विश्व सूत्रों से ज्ञात हुआ है। कि खटीमा में चार नए पंचायत हैं।प्रत्येक न्याय पंचायत में नियुक्त पीआरडी के हल्का सरदारों द्वारा ड्यूटी को निरंतर बनाए रखने के लिए 5000 से 10000 तक लिए जाते हैं। उक्त धनराशि से हल्का सरदार द्वारा अपना कमीशन निकाल कर ब्लॉक कमांडर को दिया जाता है। ब्लॉक कमांडर द्वारा शेष धनराशि को जिले स्तर पर कमीशन काटकर दिया जाता है यह बात पीआरडी जवानों द्वारा भी स्वीकार की गई है। पीआरडी जवानों के द्वारा बताया गया है। कि जिनके द्वारा यह धनराशि नहीं दी जाती है उन पीआरडी जवानों की ड्यूटी नहीं लगाई जाती है जिनके द्वारा धनराशि दी जाती है उन जवानों की ड्यूटी को नियमित रूप से जारी रखा जाता है।

Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »