20.6 C
London
Tuesday, July 16, 2024

यहां एक फिर हुआ प्रकृति का ताडव, 150 यात्री फसे

- Advertisement -spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

भोंपूराम खबरी,रुद्रप्रयाग। बीती रात को पहाड़ों में अधिक बारिश होने से जनपद चमोली,रुद्रप्रयाग मे अलकनंदा व मंदाकिनी नदी ने रौद्र रूप ले लिया, नदी का जल स्तर बड गया कि रात कोजगह-जगह अफरा तफरी का माहौल हो गया। अचानक बडे नदी के जल स्तर से कई घरों में पानी घुस गया नदी किनारे रहने वाले लोग रात को सुरझित स्थानों की ओर चले गये। वहीं केदार घाटी में कई स्थानों में अतिबृष्टि से जगह जगह भूस्खलन व सडको के ध्वस्त होने की सूचना है।

क्षेत्र में हो रही भंयकर बारिश से मधु गंगा उफान पर है। द्वितीय केदार मदमहेश्वर को जोड़ने वाला महत्वपूर्ण बनतोली पुल नदी के उफान में बह गया जिसके कारण लगभग 150 यात्री लोग बंनतोली व नानू आदि स्थानों में ही फंस गए हैं। सभी लोगों से अनुरोध है कि अपने अपने सुरक्षित जगहों में ही रुके रहें जब तक प्रशासन उचित व्यवस्था न कर दे। शासन प्रशासन को सूचना प्रेषित की जा चुकी है। वहीं चंद्रपुरी में स्थित मंदिर भी पानी के तेज बहाव से बहने की खबर हैं, तथा आस-पास के मकानों को भी खतरा पैदा हो गया है। बांसवाड़ा पुल एक तरफ से हो रहे कटान से पुल को खत्मा हो गया है जिससे वीरो वस्टी क्षेत्र के लोगों को भारी दिक्कत का सामना करना पङ रहा है।

रुद्रप्रयाग में पम्प के नीचे आवासीय भवन का प्रथम तल जलमग्न हो गया केदार नाथ मार्ग स्थित हनुमान मंदिर भी जलमग्न हो गया । इस दौरान खतरे की संभावनाओं को देखते हुये वेलनी मुहल्ले सहित नदी किनारे के लोग अपने आवासीय भवनों से सामान सुरझित स्थानों पर शिफ्ट करने में जुट गये। सुबह पांच बजे बाद नदी का जल स्तर घटने से लोगो ने राहत की सांस ली। वहीं केदार घाटी में बडी लिनचोली के पास अतिबृष्टि से भारी भूस्खलन की खबर है। केदार नाथ पैदल मार्ग जगह जगह अवरुद्ध हो गया। प्रशासन के द्वारा लोगों को एतिहात बरतने को कहा गया है। देर रात से हो रही भारी वारिस से अभी तक किसी जान माल के नुकसान की खबर नहीं है ।

Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »