12.3 C
London
Tuesday, June 18, 2024

पुलिस सामिआ ग्रुप के जमील खान को बचाव का मौका दे रही

- Advertisement -spot_img
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

भोंपूराम खबरी,रुद्रपुर। सामिआ इंटरनेशनल बिल्डर्स लिमिटेड पर कानून का शिकंजा कसता जा रहा है। रेरा कोर्ट का फैसला आने के बाद तहसील प्रशासन ने कुर्क जमीन की नीलामी की तैयारी कर ली है, लेकिन कुर्क की गई जमीन की भी रजिस्ट्री की जा चुकी है। बड़ा सवाल तो यह है कि कुर्क जमीन की रजिस्ट्री हुई कैसे? उधर, सामिआ ग्रुप के मालिक जमील खान को पुलिस आज तक गिरफ्तार नहीं कर सकी है। ऐसा प्रतीत हो रहा है कि उन्हें बचाव करने का पूरा मौका किसी की शह पर दिया जा रहा है। इसी क्रम में सामिआ ग्रुप ने समाचार पत्रों में सार्वजनिक सूचना प्रकाशित कराकर अपना पक्ष रखा है।

सवाल यह है कि सामिआ ग्रुप के मालिक जमील खान को पुलिस गिरफ्तार क्यों नहीं कर पाई? दरअसल पुलिस ने गिरफ्तारी के लिए अपने तौर तरीके नहीं अपनाए। यहां बता दें कि जमील खान के खिलाफ मुकदमे कायम होने के बाद ही उन्होंने अपने रसूख का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया था। वे सत्तारूढ़ दल के बड़े नेता की शरण में बताए जाते हैं। मुकदमों में अग्रिम जमानत के भी प्रयास किए जा रहे हैं।

गौरतलब है कि नामी गिरामी सामिआ बिल्डर्स पर लोगों को प्लांट के नाम पर करोड़ों की ठगी करने का आरोप लगा था। जिसके बाद से ही 14 अप्रैल को पुलिस प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई करते हुए लालकुआं के रहने वाले एक ही परिवार के पांच लोगों द्वारा दी गई तहरीर के बाद सामिआ ग्रुप के मालिक जमील ए खान और निदेशक सगीर अहमद खान पर धोखाधड़ी का मुकदमा पंजीकृत करने के बाद शिकंजा कसने के लिए एसआईटी का गठन कर दिया था। दूसरी ओर सामिआ ठगी के शिकार तमाम याचिकाकर्ताओं ने रियल स्टेट रेग्युलेटरी अर्थोरिटी में याचिका दायर कर न्याय की गुहार लगाई थी। सामिआ पर कार्रवाई करते हुए रेरा ने पहले सामिआ ग्रुप की काशीपुर हाईवे स्थित 0.5330 हैक्टेयर भूमि को कुर्क कराया था। चर्चा यह भी है कि कुर्क जमीन पर भी प्लाटों की रजिस्ट्री कर दी गई। हालांकि तहसील प्रशासन ने चिह्नित भूमि को नीलाम करने की तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए तहसीलदार को 15 मई की सुबह ग्यारह बजे नीलामी प्रक्रिया प्रारंभ कर राजस्व प्राप्त करने के आदेश दिया है।

तहसीलदार रुद्रपुर नीतू डागर ने बताया कि भू-संपदा देय के बाकायेदार सामिआ इंटरनेशनल बिल्डर्स प्राइवेट लि की गांव दानपुर तहसील रुद्रपुर पर 25984748 रुपये एवं अन्य वसूली के लिए अवशेष हैं। नोटिस एवं आरसी जारी होने के बाद भी देय धनराशि जमा नहीं करवाई। जिस कारण सामिआ ग्रुप की अचल संपत्ति भूमि का खाता संख्या 00826 खसरा नंबर 273 रकबा 0.5330 हेक्टेयर प्रपत्र 73 और 73 डी तामील करा कुर्क कर ली गई थी। मगर संपत्ति की नीलामी होनी बाकी थी। इसके लिए ग्रुप को कई बार मौका भी दिया गया। मगर राजस्व बकाया जमा नहीं हुई। 15 मई की सुबह 11 बजे नीलामी की कार्रवाई के लिए नायब तहासीलदार भुवन चंद्र भंडारी को नियुक्त किया गया है जो पूरी तैयारी एवं टीम के साथ नीलामी कार्रवाई को करेंगे।

पुलिस ने जांच के बाद छह लोगों की तहरीरों पर मुकदमे दर्ज किए हैं। लगभग दो दर्जन शिकायती पत्रों पर जांच चल रही है। इसके अलावा 60 से अधिक ठगी के शिकार लोगों ने रेरा कोर्ट में याचिका डालकर न्याय की गुहार लगाई। लोगों की जीवन भर की कमाई को सामिआ इंटरनेशनल ने धोखेबाजी से हड़प ली। एक प्लाट की कई बार रजिस्ट्री कर दी गई।

Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »