22.1 C
London
Thursday, July 18, 2024

पीएम मोदी की जी20 देशों का सलाह, अगली हेल्थ इमरजेंसी के लिए रहें तैयार

- Advertisement -spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

भोंपूराम खबरी। पीएम मोदी ने जनता को अगली हेल्थ इमरजेंसी के लिए तैयार रहने, इससे सावधानी बरतने और इसे जवाब देने के लिए तैयारी करने की सलाह दी है। पीएम ने शुक्रवार को वीडियो के माध्यम से गांधीनगर में जी-20 स्वास्थ्य मंत्रियों की बैठक को संबोधित करते हुए ये बात कही है। गांधीनगर में 17 से 19 अगस्त तक जी20 देशों के स्वास्थ्य मंत्रियों की बैठक हो रही है। यहां पीएम ने कहा कि दुनिया एक दूसरे से जुड़ी हुई है। कोरोना महामारी के वक्त हमने ये देखा है कि दुनिया के किसी दूसरे कोने में हुई समस्या दुनिया के दूसरे छोड़ को भी काफी कम समय में प्रभावित कर सकती है।

समग्र स्वास्थ्य की बात

पीएम मोदी ने यहां समग्र स्वास्थ्य के महत्व को समझाते हुए कहा कि अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस इसका सबसे अच्छा उदाहरण है। पीएम ने ये भी कहा कि गुजरात के जामनगर में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO ) के वैश्विक पारंपरिक चिकित्सा केंद्र की स्थापना इस दिशा में काफी महत्वपूर्ण कदम है। पीएम मोदी ने कहा कि जी20 स्वास्थ्य मंत्रियों की बैठक के साथ पारंपरिक चिकित्सा पर WHO के वैश्विक शिखर सम्मेलन के आयोजन से काफी फायदा मिलने वाला है। उन्होंने ये भी कहा कि स्वच्छ हवा, सुरक्षित पेयजल, पर्याप्त पोषण और सुरक्षित आश्रय स्वास्थ्य के प्रमुख कारक हैं।

एंटी-माइक्रोबियल रेजिस्टेंस से खतरा

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि एंटी-माइक्रोबियल रेजिस्टेंस सार्वजनिक स्वास्थ्य और अब तक की सभी फार्मास्युटिकल प्रगति के लिए एक गंभीर खतरा है। पीएम ने इस बात पर खुशी जताई कि जी20 हेल्थ वर्किंग ग्रुप ने ‘वन हेल्थ’ को प्राथमिकता दी है। उन्होंने कहा कि एक पृथ्वी-एक स्वास्थ्य का दृष्टिकोण गांधीजी के किसी को भी पीछे न छोड़ने वाले दृष्टिकोण का संदेश देता है।

डिजिटल समाधान पर जोर

पीएम मोदी ने स्वास्थ्य पर हो रहे कार्यों को और अधिक समावेशी बनाने के लिए डिजिटल समाधान और तकनीकी नवाचार पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि आजकल दूर-दराज के लोग टेली-मेडिसिन के माध्यम से गुणवत्तापूर्ण देखभाल प्राप्त कर सकते हैं। पीएम ने बताया कि भारत के राष्ट्रीय प्लेटफॉर्म ई-संजीवनी ने अब तक 140 मिलियन लोगों को टेलीहेल्थ की सुविधा दी है। देश के कोविन पोर्टल ने अब तक 2.4 अरब लोगों को टीके की सुविधा दी ह। ये दुनिया का सबसे बड़ा नंबर है। पीएम ने कहा कि डिजिटल हेल्थ की ओर ऐसे कदम यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज की ओर बड़े कदम के रूप में काम कर सकते हैं।

Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »