12.3 C
London
Tuesday, June 18, 2024

न जाने और कितने दुश्मन मडरा रहे हैं आसमान में, मिली राहत, सुरक्षित गुजर गया एक खतरनाक क्षुद्रग्रह

- Advertisement -spot_img
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

भोंपूराम खबरी

न जाने और कितने दुश्मन मडरा रहे हैं आसमान में,

मिली राहत, सुरक्षित गुजर गया एक खतरनाक क्षुद्रग्रह

रविवार की दोपहर को एक खतरनाक क्षुद्रग्रह पृथ्वी के करीब से होकर गुजर गया। इस आकाशीय दुश्मन का 14 अप्रैल को पृथ्वी के करीब आने पता चला था। तभी से इस क्षुद्रग्रह पर नजर रखी जा रही थी। इसका नाम 2023 जी एफ 2 l है। यह आकाशीय पिंड 566 दिन में सूर्य का एक चक्कर पूरा करता है।

वैज्ञानिकों के रडार में पहली बार आया यह दुश्मन

क्षुद्रग्रह 87 फिट का यह एस्टीरॉयड न जाने कितनी बार सूर्य के चक्कर लगा चुका होगा। इस बार यह पहली बार पृथ्वी के निकट पहुंचा होगा। जिस कारण वैज्ञानिकों के रडार में आ गया। मगर गौरतलब है कि इस तरह के न जाने कितने आकाशीय दुश्मन होंगे, जो अनंत आसमान में मडरा रहे हैं। इन्ही से पृथ्वी को बढ़ा खतरा रहता है। जिसके चलते दुनिया की कई दूरबीने इन पर नजर रखे रहती है।

नासा नजर रखे हुए था इस पिंड पर नजर

इसका आकार बहुत बढ़ा होने के कारण नासा इस पर नजर बनाए हुए था। इसके पृथ्वी से टकराने की आशंका नही थी। फिर भी नासा ने इसके पृथ्वी के करीब से गुजरने की चेतावनी जारी कर दी थी। पृथ्वी से नजदीक गुजरते समय इसकी 17235 किमी प्रति घंटा रही थी। पृथ्वी के नजदीक से गुजरते समय पृथ्वी व इस क्षुद्रग्रह के बीच की दूरी 2.74 मिलियन मील रह गई थी। डा पांडेय ने बताया कि पृथ्वी के 4.6 मिलियन मील के दायरे में आने वाले पिंडों को खतरनाक श्रेणी में रखा जाता है और इन पर हमेशा नजर रखी जाती है।

दोपहर 1.53 बजे गुजरा पृथ्वी के करीब से

क्षुद्रग्रह 2023 जीएफ 2 रविवार को दोपहर 1.53 बजे पृथ्वी के करीब से होकर आगे निकल गया। 14 अप्रैल, 2023 को इसकी खोज हुई थी । भारतीय तारा भौतिकी संस्थान बंगलुरु के वरिष्ठ रिटायर्ड वैज्ञानिक प्रो आर सी कपूर ने बताया कि नासा इसके करीब आने की गणना कर रहा था। यह पिंड पृथ्वी के करीब आने के बाद सुरक्षित अपने पथ पर आगे निकल गया।

श्रोत: नासा।

फोटो; नासा।

Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »