11.3 C
London
Monday, March 4, 2024

जितनी मर्जी उतनी शादी, अब यह भारत में नहीं चलेगा’, यूनिफॉर्म सिविल कोड पर राजनाथ सिंह का बड़ा बयान

- Advertisement -spot_img
spot_img
spot_img

भोंपूराम खबरी। यूनिफॉर्म सिविल कोड को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बयान के बाद जहां सियासी घमासान तेज हो गया है वहीं मुस्लिम पर्सलन लॉ बोर्ड अब लॉ कमीशन को अपना ड्राफ्ट सौंपने की तैयारी कर रहा है। इस बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने UCC को लेकर विपक्ष पर करारा प्रहार किया है। राजनाथ सिंह ने कहा है कि विपक्ष ने इसे हिंदू और मुसलमान का सवाल बना दिया है जबकि मोदी सरकार ने कभी किसी धर्म के लोगों की प्रेक्टिस पर प्रतिबंध नहीं लगाया। रक्षा मंत्री ने कहा कि सरकार उसी बचन को पूरा करने जा रही है जो संविधान में लिखा है। कोई ये आजादी मांगे की हम कितनी शादी करें…तो ये भारत में नहीं होगा।

जोधपुर के शेरगढ़ में केन्द्र सरकार के 9 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित एक रैली को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा, “हम वही करने जा रहे हैं जो संविधान निर्माताओं ने संविधान में लिखा है…नीति -निर्देशक सिद्धांतों में, हम वही लागू करने जा रहे हैं, हम उनका वादा पूरा करने जा रहे हैं, हम पर आरोप क्यों लगाया जा रहा है?” उन्होंने कहा, “क्या पंडित जवाहरलाल नेहरू संविधान सभा में नहीं थे? क्या वल्लभ भाई पटेल और बाबा साहब भीमराव अंबेडकर वहां नहीं थे? मोदी को बदनाम क्यों किया जा रहा है?” उन्होंने कहा, ‘‘अगर कोई यह चाहता उसे यह आजादी मिल जाए कि जितनी मर्जी, उतनी शादी कर ले, तो यह भारत में नहीं होगा।’’

सिंह ने कहा कि महिलाओं का सम्मान हमारी प्रतिबद्धता है चाहे वो किसी भी जाति पंथ धर्म की हो। सिंह ने कहा, “हम क्या गलत कर रहे हैं? हम माताओं-बहनों को सम्मान दे रहे हैं। हमने अपने घोषणापत्र में भी कहा था तो फिर क्यों विरोध किया जा रहा है। हर चीज को सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश की जाती है हम ऐसे देश चलने नहीं देंगे।’

अब अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भारत बोलता है, तो लोग उसे खुले कान से सुनते हैं’

सिंह ने कहा कि चुनाव के दौरान जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा हटाने और अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर भाजपा के वादे पर विरोधी सवाल उठाते थे, लेकिन संसद के दोनों सदनों में बहुमत मिलने के बाद भाजपा ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटा दिया…और अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण हो रहा है। मंत्री ने कहा कि वह हिंदू-मुसलमान की नहीं, न्याय और इंसानियत की राजनीति करते हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को विश्व स्तर पर जो सम्मान मिलता है वह हर भारतीय का सम्मान है और उन्हें इस पर गर्व होना चाहिए। रक्षा मंत्री ने यह भी कहा कि भारत को पहले “कमजोर” और “गरीबों की भूमि” के रूप में देखा जाता था, जबकि अब अंतरराष्ट्रीय मंचों पर जब भारत बोलता है, तो लोग उसे खुले कान से सुनते हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से कहा कि वह वैश्विक स्तर पर लोकप्रिय हैं और उनका ऑटोग्राफ लेना चाहते हैं, पापुआ न्यू गिनी के प्रधानमंत्री ने मोदी के पैर छूने के लिए झुके, जबकि ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी बॉस है।

Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »