12.8 C
London
Thursday, May 23, 2024

उधमसिंहनगर पुलिस ने काशीपुर क्षेत्र में हुए हत्याकांड का किया खुलासा, 3 आरोपी गिरफ्तार

- Advertisement -spot_img
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

भोंपूराम खबरी। ऊधमसिंहनगर के काशीपुर में पिछले माह हुए हत्याकांड का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। हत्याकांड नोटों की गड्डी देखकर दोस्तों ने ही अंजाम दिया था। पुलिस ने मामला में तीन हत्यारोपियों को गिरफ्तार किया है।

एसपी काशीपुर अभय सिंह ने खुलासा करते हुए बताया की पांच फरवरी को मंगल सिंह पुत्र जोगेन्द्र सिंह निवासी मछरिया थाना कटघर जिला मुरादाबाद उत्तर प्रदेश ने तहरीरी सूचना दी कि उसका भाई मुकेश कुमार पुत्र प्रेमपाल निवासी ग्राम मछरिया थाना कटघर जिला मुरादाबाद उत्तर प्रदेश जो अपने मकान ग्राम चादपुर सैनिक कालोनी आया तथा 28 जनवरी से उसका फोन बंद आ रहा था 4 फरवरी को वह अपने मामा विजय कुमार के साथ चादपुर सैनिक कालोनी आया तो देखा कि उसके भाई का शव घर ही वैड के अन्दर मृत अवस्था में पड़ा है एवं उसके रूपये व फोन गायब था तथा जानकारी करने पर आया कि 29 जनवरी को मुकेश कुमार के साथ उसके परिचित 1-गौतम बाल्मीकि 2- रवि कुमार उर्फ गोगली 3- दीपक ने कमरे में बैठकर शराब थी, तीनों के द्वारा उसके भाई मुकेश कुमार की हत्या कर दी है कि तहरीरी तीनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर खुलासे के टीम का गठन किया गया था।

घटना की गम्भीरता को देखते हुये आने-जाने वाले घटना स्थल के समस्त मार्गों के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज का अवलोकन किया गया अभियोग में संदिग्ध प्रकाश में बाईस्तवा अभियुक्त गणों को फुटेज के आधार पर अभियुक्त गण 1-गौतम बाल्मीकि 2- रवि उर्फ भोगली 3- दीपक को गिरफतार किया गया।

पूछताछ में दीपक कुमार उम्र 19 वर्ष ने पूछने पर बताया

कि मेरी दोस्ती मुकेश कुमार के साथ थी हम लोग अक्सर

साथ बैठकर शराब पीते थे मैने ही मुकेश कुमार की दोस्ती रवि कुमार उर्फ गोगली उम्र 18 वर्ष व गौतम बाल्मीकि से करायी थी पहले भी दो-तीन बार हम लोग मुकेश कुमार के कमरें में गये थे मुकेश अक्सर दीपक के घर आता था। तथा दीपक ने बताया कि वह उसकी रिस्तेदारी में आता हैं, 29 जनवरी को दीपक मुझे प्रतापपुर बाजार में मिला तथा वह अपने साथ ले गया तथा मैंने गौतम को भी फोन करके बुलाया तब बताया कि मुकेश के पास पांच पांच सौ रूपये की नोटों की गडढ़ी है तथा मुकेश लड़की की व्यवस्था के लिये कह रहा है तब हम पैदल पैदल जंगल गये तथा मुकेश को बताया कि लडकी की व्यवस्था हो गयी है, मुकेश आ गया था परन्तु वहाँ पर दिन लोगों की आबा-जाही के कारण मुकेश कुमार को मारने की हिम्मत नही हुयी उसके बाद मृतक मुकेश कुमार के साथ  कच्ची शराब खरीदकर, बाजार से खाना लाकर रात समय लगभग 18:30 बजे हम तीनों मुकेश कुमार के घर चले गये वहाँ पर हमने शराब थी जब मुकेश को ज्यादा नशा हो गया तो मुकेश सो गया तब हमनें मुकेश कुमार को ठिकाने लगाने की पूरी तैयारी करी रवि कुमार उर्फ गोगली को मुकेश कुमार की घर की छत पर निगरानी के लिये चला गया तथा आने-जाने वाले लोगो पर नजर रखने लगा तब गौतम व मैंने मुकेश की चाकू एवं सरिया से उसकी हत्या कर लाश को बैंड के अन्दर डाल दिया और कम्बल से ढक दिया उसकी जेब से 1500/ रूपये निकाल लिये पांच पांच सौ रूपये के हिसाब से आपस में बाँट लिये, मृतक मुकेश का फोन दीपक ने अपने पास रखा और 05 फरवरी को अभियुक्त गण पुलिस कार्यवाही की डर से मृतक की मोटर साईकिल को बेचने के इरादे से भाग रहे थे को मुखविर की सूचना पर प्रतापपुर क्षेत्र से गिरफतार किया गया ।

 

 

Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »